फाल्तू  की नासियात देने वालो से ऐसे निपटे | Motivational story in hindi

फाल्तू की नासियात देने वालो से ऐसे निपटे | Motivational story in hindi

फाल्तू की नासियात देने वालो से ऐसे निपटे | Motivational story in hindi

दोस्तों ये जो कहानी है वो उन लोगो के बारे में है। जो बिना सोचे समजे कुछ भी बोल देते है और उसका असर किसी का जीवन बर्बाद कर देती है।

ये कहानी है दो सहेलियों की एक बार सहेली ने दूसरी सहेली से पूछा की तुझे बच्चा पैदा होने  पर तुम्हारे पती  ने तुम्हें तोफा किया दिया ? इस पर दूसरी सहेली ने कहा कुछ भी नहीं दिया इस  बात पर उसकी सहेली ने बोला की किया ये अच्छी बात है। उसकी नज़र में तुम्हारी कोई कीमत नहीं ?



उसने तो ये बोल दिया पर लफ्जों का यहाँ जहरीला बम गिरा कर उसकी सहली उसे इस फिक्र में दाल कर उसे छोर कर निकल गयी | फिर जब शाम को उसका पति घर आया और अपनी पत्नी का लटका मुँह देखा और फिर दोनों में झगरा हुआ एक दुसरे को उल्टा सीधा बोला | आखिर में उन दोनों का तलाक हो गया।

 

किया आप जानते है प्रॉब्लम की सुरुआत कहा से हुई , उस की सहेली से जो उस का हाल चाल पूछने आयी थी | तो दोस्तों ये छोटी मोती चीजे हमारे साथ भी होती है, पर हम कभी गौर नहीं करते, कभी भी हमारे रंग रूप के बारे में, कभी हमारी बॉडी के बारे में, कभी हमारे व्यक्तिगत जीवन के बारे में जरा सा कमेन्ट कर देता है|

दोस्तों वो तो कमेन्ट कर के चला जाता है पर वो हमें ऐसा जखम देकर जाता है | जिस की वजह से या तो हमारा पूरा मूड ऑफ हो जाता है| या फिर जो पूरा दिन है वो खराब हो जायेगा हम घर पर बिना किसी वजह से गुसा कर सकते है |

अपने देखा होगे ऐसी कंडीशन में हम कभी बच्चो पे गुसा करते है, पत्नी पे गुसा करते है या फिर माँ बाप पर बिना बात गुसा निकलते है |

 

मतलब कहने का यहाँ है की कुछ भी हो सकता है | बस आप को ख्याल रखना है की आप इन Faltu की बातो से बचे | अगर कोई आप को ऐसा कह कर भी जाता है तो उस पर विचार करे, ये नहीं की उस पर अमल करना शुरु कर दे | की उसने जो कहा है सही कहा है, आप अपने विवेक अपनी बुधि का पूरा उपयोग करे |

 

एक और ऐसी बात है राम ने अपने दोस्त मनोज से पूछा तुम कहा काम करते हो तो मनोज ने कहा फलाना दुकान में , राम कितनी तनख्वा देता है वह? मनोज कहता है 18 हज्जार रूपये, राम कहता है सिर्फ 18 हज्जार रूपये तुम्हारी जिन्दगी कैसे कटती है इतने पैसे में |

तो दोस्तों देखे ना तो वो बांदा उसे पैसे देने आ रहा है | उसे मालिक से तनख्वा मिल रही थी  18 हज्जार रूपये वो खुश था  18 हज्जार रूपये में पर जैसे ही ये तंज कटा उस पर तो देखो किया हुआ|

तब मनोज ने गहरी सांस लेते हुए कहा बस यार किया बताऊ मीटिंग ख़तम हुई कुछ देर बाद मनोज अब अपने काम से बेरुखा हो गया और मालिक से तनख्वा बढ़ाने की डिमांड रख दी जिसे मालिक ने रद्द कर दिया |

अब मनोज ने जॉब छोर दी और बेरोजगार हो गया | पहले उसके पास काम था और अब काम ही नहीं रहा|

एक साहब ने एक सकस से कहा जो अपने बेटे से दूर रहता था | साहब ने कहा तुम्हरा बेटा तुमसे बहुत काम मिलने आता है ? किया उसे तुम से Mahubaat नहीं है ?

तब बाप ने कहा वो बहुत व्यस्त रहता है, उसका काम का SEHDULE फिक्स रहता है, और उसके बीवी बच्चे है उसे बहुत कम समय मिलता है | तब साहब ने बोला ये किया बात हुई तुमने उसे पला पोसा और उसकी हर खोयाइश पूरी की पर उसे तुम्हारे बुदापे में उसे मिलने का टाइम नहीं मिलता ये तो न मिलने का बहाना है | उस दिन के बाद बाप के मन में बेटे के लिए संका पैदा हो गयी |

 

और अब जब कभी भी बेटा उसे मिलने अता तो वह यही सोचता की उसके पास सब से मिलने के लिए टाइम है बस मेरे लिए नहीं है| याद रखो जुबा से निकले बोल दुसरो पर बहुत गहरा असर डालते है | बेसक कुछ लगो की जुबा से सह्तानी बोल निकलते है , हमारी रोज मरा की जिन्दगी में बहुत से सवाल हमे बहुत मासूम लगते है|

  1. तुमने ये कियु नही खरीदा ?
  2. तुम्हाते पास ये कियु नहीं है ?
  3. तुम इस SAKSH के साथ पूरी जिन्दगी कैसे चल सकते हो ?
  4. तुम उसे कैसे मान सकते हो ?
  5. तुम हरे पास ये भी हो सकता था ?

इस तरह के बेमत्लाबी फिजूल के सवाल नादानी में बिना किसी मकसद से हम पूछा बैठते है | जबकि हम ये भूल जाते है की हमारे ये सवाल सुनने वाले के दिल में नफरत या प्यार कोनसा बीज बो रहे है | आज के समय में जो हमारे घर में या आस पास जो टेंसन बढती जा रही है |

 

अगर हम उसकी जड़ तक जाये तो उसमे हाथ किसी ओर का ही होता है | वो ये नहीं जानते नादानी में या जान कर बोले जाने वाले जुमले किसी की दुनिया को तभा कर सकते है | ऐसी हवा फेलाने वाले हम ना बने और हमे ऐसे लोगो से बचना भी चाहिये , लोगो के घरों में अंधे बन कर जाओ और वह से गूंगे बन कर निकलो |

Radha Soami Satsang Beas, Radha Soami shabad, radha soami dera beas, rssb, radha soami satsang beas, radha soami beas, beas
फाल्तू की नासियात देने वालो से ऐसे निपटे Motivational story in hindi

दोस्तों आंखे बंद कर एक बार विचार जरूर करे, मेने आप को बहुत अच्छी बात बतलाई है | अगर आप इन बातो पर गौर करे तो में आप को बताता ही 99% हमारे दुःख कम हो जायेंगे |

और दोस्तों जो लोग ऐसी बाते बोलते है| की आप का पति आप को गुमने नहीं ले जाता है?

कही उसका किसी और के साथ अफेयर तो नहीं चल रहा है ?

आप के पति की sallary किया है?

दोस्तों ऐसी फाल्तू बातो से दूर ही रहे | इस से एक तो आप के घर की शांति भंग होगी , वो जो बोल कर गया उसका तो कुछ नहीं जायेगा पर जो वो बोल कर गयी उसके वजह से आप की शान्ति भंग होगी | और इस से आप का व्यवार बदल जायेगा आपे बच्चो के परती, अपने पति के परती और इसे आप का अपने घर पर ही मन नहीं लगेगा |

दोस्तों आप के मन में बहुत सरे डाउट पैदा हो जायेंगे | जिस की वजह से आप का रिलेशनशिप भी खराब हो जायेगा | आप को ऐसा नहीं होनेदेना है | और आप को भी बचना है इस तरह से बेतुके और बेकुफी से सवाल पूछने से |

फाल्तू की नासियात देने वालो से ऐसे निपटे | Motivational story in hindi

किसी के घर में जाओ तो आँख बंद कर जाओ और निकलो

तो गूंगे बन कर निकलो 

दोस्तों किसी के घर जाओ तो तो आँख बंद कर जाओ और जब बहार निकलो तो गूंगे बन कर निकलो : दोस्तों जब आप किसी के यहाँ जाये तो अनंदे बन कर जाओ जैसे आप ने कुछ देखा ही नहीं हो| और जब बहार निकलो तो गूंगे बन कर निकलो समजे अगर कही जाओ और कुछ बोलना है तो अच्छा बोलो ताकी उसके मन को अच्चा लगे |

और भी अध्यात्मिक कहानी पढ़े :-

बाबा जी कैसे हमरी रक्षा करते है?

बिना हाथों वाले आदमी की दर्दनाक कहानी

दो भाई की सच्ची कहनी

बाबा जी ने बोला अब तो बोल दो जय माता दी

 

Leave a Comment