इंडिया की सबसे अच्छी मोटिवेशनल कहानी | India Best Motivational Story

इंडिया की सबसे अच्छी मोटिवेशनल कहानी | India Best Motivational Story

इंडिया की सबसे अच्छी मोटिवेशनल कहानी

India Best Motivational Story: दोस्तों आज हम जीवन में इतनी रफ़्तार से चल रहे है, की हमे पाता नहीं की किया कर रहे है और हम कुछ ऐसी चीजें खोते जा रहे है जिनकी हमारे जीवन में बहुत ज्यादा वैल्यू है |

और जब हम वक़्त से बहुत ज्यादा आगे निकल जाते है तब हमे महसूस होता है की हम किया खो चुके है | और फिर हम उन चीजों को दोबारा नहीं पा सकते इन्ही चीजों को आज में आपको  माद्यम से समजने जा रहा हूँ |

HindiStories, #HindiStory ,hindi inspirational stories, inspirational stories, inspirational stories in hindi, inspirational story, inspirational story for students in hindi, motivational stories in hindi, Motivational Stories in Hindi for Students,motivational story, Real Life Inspirational Stories, Real Life Inspirational Stories in Hindi, Stories, story

एक बार एक आदमी एक ऑफिस में देर रात तक काम करता था और वो देर रात घर पर थका हरा आता पहुँच था था | एक बार जैसे ही वो घर पे पहुंचा और उसने दरवाजा खोला तो उसने देखा उसका छोटा सा बच्चा उसका इंतजार कर रहा है, और अंदर घुसते ही उसने अपने पापा से पूछा किया में आपसे एक एक सवाल पूछ सकता हूँ ?

ये भी पढ़े : जैक माँ Alibaba Founder Success Story In Hindi

तो उसके पिता ने कहा पूछो बेटा किया पूछना चाहते हो की आप एक घंटे में कितना कमा लेते है ? तो पिता जी ने बोला की इस बात से तुम किया लेना देना तुम ऐसे बेकार के सवाल कियु पूछ रहे हो | तब बेटे ने बोला में तो यूँ ही जाना चाहता हूँ , तो पिता ने गुसे से उसकी तरफ देखा और बोला में एक घंटे में 100 रुपये कमाता हूँ बताओ अब किया करना है |

तब बच्चा पूरी तरह से दर गया और सर जुखा कर बोला की पिता जी किया आप मुझे 50 रुपये उधार दे सकते है | तो इतना सुनते पिता जी आग बबूला हो गया और बोले की तुम फालतू के सवाल पूछते रहते हो और फालतू के सामान खरीदने के लिए पैसे मांगते रहते हो |

तब उसके पिताजी ने कहा तुम फालतू के समानो में पैसे खर्च करते रहते हो तुम कुछ काम है नहीं पता है पैसे कितनी मेहनत से कमाये जाते हैं|  और वो लड़का रोते हुये अपने कमरे में चला गया | पर जब पितजी का गुस्सा शांत हुआ टी सोचने लगे की शायद उसे पैसे की जरुरत होगी और मुझे उसे पैसे दे देने चाहिए थे |

तो फिर वो अपने बेटे के कमरे में गए और पूछा बेटा तुम किया कर रहे हो सो रहे हो या जाग रहे हो तब पिता जी ने खा पिताजी में जाग रहा हूँ | तब पिताजी ने कहा मैने तुम बेकार में ही डाट दिया था, मुझे ऐसे  डाटना चाहिए था,  लेकिन में दिन भर काम के तक गया था और मुझे जल्दी गुस्सा आगया तो मेने तुम्हे गलत डाट दिया |

ये भी पढ़े : ये 5 short moral story in hindi बदल देंगे आप की जिंदगी 

फिर पिताजी ने अपनी जेब से 50 रुपये निकले और दे दिए बोले लो बेटा अपने 50 रुपये तो बेटा बड़ी खुशी से अलमारी में गया और वहाँ से अपनी गुलक निकली और उसमे से सीखे निकाल ने लगा और उन्हें धीरे-धीरे गिनने लगा तो उसके पिताजी को फिर गुस्सा आगया और बोले अगर तुम्हारे पास पहले ही पैसे थे तो फिर तुमने मुझसे पैसे कियु मांगे ?
तब उसने बोलै पापा मेरे पास पैसे थे पर लेकिन पुरे नहीं थे लेकिन अब मेरे पास पुरे पैसे हो गए हैं, इन पचास रूपये को मिला के अब मेरे पास पुरे 100 रुपये हैं | तब वह पिताजी से कहता है की लो पिताजी 100 रूपये आप एक घंटे में 100 रुपये कमाते है ना आप इसे ले लो और कल एक घंटे जल्दी आना उसके पिताजी उसका मुँह देखते  गए |

दोस्तों इस कहानी से आप समज ही गए होंगे की हम अपने जीवन में इतने बिजी है और हमे उन चीजों का पता ही नहीं है जो हमारे लिए बहुत जरुरी है, हम उन चीजों को समय नहीं दे पा रहे हैं | और एक समय ऐसा आएगा जब हम उन चीजों को पूरी तरह खो देंगे और एक समय बाद वो चीजे हम से कोसों दूर हो जाएगी | और हम उन तक नहीं पहुँच पायेंगे , और दोनों के रस्ते अलग-अलग हो चुके होंगे |

तो इस जीवन की रेस में अपनी माँ , बाप भाई , बहन और पत्नि के लिए थोड़ा समय निकले और उन्हें अपनी लाइफ में थोड़ी इम्पोर्टनैस दीजिये की वो भी आपके जीवन में उतने ही महत्व रखते है जितने की आप का काम दोस्तों आप कभी अपने काम से ऑफ लीजिये बहार गुमने जाईये डिनर कीजिये या फिर कही गुमने जाईये मतलब आप को थोड़ा टाइम निकलना होगा |

ये भी पढ़े : दुनिया का सबसे सुखी पँछी कौन है ? 

तो दोस्तों ऐसा न हो की जब समय निकल जाये तब आप को समय की वैल्यू पता चले उसे पहले आप आप उनपालो को जी ले जी भर के घन्यवाद |

 

 

Leave a Comment