ये 5 शिक्षाप्रद कहानी जरूर पढ़े -Hindi Short Stories With Moral Values

Hindi Short Stories With Moral Values: दोस्तों आज में आपके साथ कुछ कहानियाँ शेयर करने जा रहा हूँ | जिसे पढ़ने के बाद आप अपने जीवन में कुछ नया करने के लिए प्रेरित करेगी उम्मीद करता हूँ की आप ये सारी कहनियाँ जरूर पढ़े |

Hindi Short Stories With Moral Values

 

Hindi Short Stories With Moral Values

एक लड़के और लड़की की कहानी

एक बार एक लड़का और लड़की एक साथ खेल रहे थे | लड़के के पास बहुत सारे अच्छे-अच्छे मार्बल थे , और लड़की के पास कुछ मिठाई थीं | लड़के ने लड़की को अपने मार्बल के बदले  मिठाई देने को कहा और लड़की सहमत हो गई |

जब लड़का मार्बल के बदले मिठाई लेने आया तो उसके मन में लालच आगया और उसने उनमें से सबसे खुबसूरत मार्बल अपने पास रख लिया और बाकि सारे मार्बल उस लड़की के सामने रख दिए और बोला आप ये सभी ले सकते हो, लड़की ने अपनी सहमति से उसके सारे मार्बल के बदले अपनी सभी मिठाई उसे दे दी |

उसी रात जब वहाँ लड़का घर आया तो वो रात में सोते समय अपनी दिन वाली घटना के बारे में सोच रहा था की | जैसा मैंने किया अगर वैसा लड़की करती तो, मतलब जैसा लड़के ने सबसे खूबसूरत मार्बल निकल लिया था जैसे उनकी बात हुई  मार्बल के बदले मिठाई बदलने की लड़का सोच रहा था अगर जैसा मैंने किया था कहीं वैसा तो उस लड़की ने नहीं किया होगा |

शिक्षा :

दोस्तों इस कहानी से हमें ये शिक्षा मिलती है की अगर किसी रिश्ते में हम अपना 100% नहीं देते हैं | तो हम हमेशा चिंतित रहते हैं  और सोचते रहते हैं की कहीं आपका पार्टनर आपके साथ तो ऐसा नहीं कर रहा है | तो दोस्तों आप हमेशा अपने सगे सम्बंदियों के प्रति सोच साफ़ रखें |

Real Life Inspirational Stories In Hindi

कुछ अच्छा करो कुछ अच्छा होगा 

एक बार एक आदमी  सड़क  पार एक बूढ़ी औरत  खड़े देखा |  वहाँ आदमी उसे देख कर समज सकता था  किसी की मदद की जरूरत हैं | तब कुछ देर बाद वह आदमी अपनी कार से बाहर निकला |  तब बूढ़ी औरत ने आदमी की तरफ देखा वह हल्का मुस्कुरा रहा था और आदमी उस के चेहरे को देखा वह चिंतित लग रही थीं और आदमी ने देखा वह उसे देख कर थोड़ा डर भी गयी थी |

फिर खुद का परिचय देते हुए उसने कहाँ हेल्लो मैडम में समीर हूँ और में आपकी मदद करने यहाँ आया हूँ | आप कार के अंदर इन्तजार क्यों नहीं करते हैं ?

उस लेडी का टायर पूरी तरह से फट गया था और एक बूढी औरत के लिए ये करना संभव नहीं था | अब समीर ने टायर ठीक करना शुरू कर दिया वहाँ कार को स्टेपनी में खड़ा कर उसके नीचे घुसकर टायर बदलने लगा | अब बूढ़ी औरत ने कहाँ वह दिल्ली से हैं और यहाँ से बस गुजर रही थीं की टायर खराब हो गया और उसने कहाँ में आपका धन्यवाद करती हूँ की आप यहाँ आये |

उस आदमी ने बस हंसा और अपना काम पूरा खत्म करने लगा तब उस बूढी औरत ने पूछा मुझे कितने पैसे देने हैं | वह उसे कितने भी पैसे देने के लिए तयार थीं क्योंकि उसने पहले ही उन भयानक चीजों की कल्पना की थी जो नहीं हो सकती थीं |

तब समीर ने कहा मैंने कभी पैसों के बारे में नहीं सोचा था | ये मेरी नौकरी नहीं हैं में बस उन लोगो की मदद कर रहा हूँ जिन्हे मदद की जरुरत होती है | क्योंकि भगवान जनता है ऐसे बहुत सारे लोग है जिन्होंने मेरी मदद की थी मेरी मेरे पास्ट में  समीर अपना जीवन ऐसे ही जीता था |

फिर उसने कहा अगर आप सच में मुझे पे करना चाहती हैं तो अगली बार जब आप किसी जरूरत में देखे तो मदद करे जो उससे सहयता हो वो करे और उस समय मुझे याद करें |

फिर वो आदमी तब तक इंतजार करता रहा जब तक वहाँ कार में नहीं बैठ गयी फिर कुछ दूर में आगे उसे एक छोटा सा धब्बा दिखाई दिया और वो महिला वहाँ कुछ खाने के लिए रुकी और जैसे ही वह अंदर गयी वेटर ने उसे तौलिया दिया की अपने गीले बल साफ करने के लिए उसने उसे एक मीठी मुस्कुरहट दी |

फिर उस लेडी ने देखा वहाँ वेटर आठ महीने की प्रेग्ननेंट लेडी थीं, पर उसने अपने तनाव और दर्द को अपने चेहरे में छलकने नहीं दिया तब उस बूढ़ी औरत ने देखा की कैसे कोई तौलिया अजनबी इंसान को दे सकता हैं | तब उसे समीर याद आया |

फिर जैसे ही बूढ़ी महिला  खना खतम किया वह उसे 100 डॉलर देती है और महिला वेटर जब काउंटर से पैसे खुले लेकर आती हैं तब तक बूढ़ी महिला वहाँ से जा चुकी  थीं | फिर उसने देखा नैपकिन में कुछ लिखा था |

फिर वहाँ महिला वेटर उसे पढ़ कर रोने लगी क्योंकि उस बूढ़ी महिला लिखा था | तुम मेरी कुछ भी नहीं हो पर में भी इस समय को काट चुकी हूँ | क्योंकि राश्ते  किसी  मेरी मदद की थी और बोला था अगर तुम मुझे कुछ पे करना चाहती हो तो किसी जरुरत मंद की मदद कर देना जैसे मैंने तुम्हारी की बस में भी यही चाहती हूँ बस तुम इस चैन को टूटने ना देना |

फिर उसने देखा उस नैपकिन  अंदर पांच और 100 डॉलर थे | तब उस रात वहाँ महिला वेटर बिस्तर लेटी तो सोच रही थी पैसों  बारे में और उसने जो नेपकिन में लिखा था | वह सोच रही थी बूढ़ी महिला कैसे जान सकती  उसे और उसके पति को पैसों  कितनी जरुरत हैं ? अगले महीने बच्चे साथ यहाँ मुश्किल  हो रहा था |

महिला वेटर जानती थी की उसका पति कितना चिंतित है लेके जो उसके बगल में सो रहा था फिर उसने उसे एक चुम्बन दिया और बोला सब कुछ ठीक हो जायेगा में तुमसे प्यार करती हूँ राहुल |

शिक्षा :

दोस्तों इस कहानी से हमे यहाँ शिक्षा मिलती है की हम जैसा काम करते है हमे वैसा  मिलता हैं | अगर आप अच्छा करते हैं बदले में आपको अच्छा महसूस होगा |

Funny Short Stories in Hindi

कभी किसी को धोखा मत दो 

एक बार एक किसान ने अपने पड़ोसी का कुँवा खरीदा फिर जब वहाँ किसान कुँवा खरीदने के बाद उस कुँवे में पानी भरने गया तब उसके पड़ोसी ने पानी देने से इंकार कर दिया और बोला मैने तुम्हें कुँवा बेचा था पानी नहीं मैं तुम्हें कुँवा अच्छी तरह बेच चूका हूँ पर मैंने पानी नहीं बेचा | परेशान किसान को कुछ समज नहीं आया और अपनी परेशानी लेकर राजा के पास गया |

राजा ने उसे अपने पड़ोसी को दरबार में लेकर आने को कहाँ ! अगले दिन किसान अपने पड़ोसी को लेकर राजा के दरबार में पहुंचा तब राजा ने उससे पूछा की तुम इसे पानी लेने क्यों नहीं दे रहे हो |

तब पड़ोसी ने कहाँ मैंने उसे कुँवा बेचा हैं पानी नहीं तो मुझे उसे पानी का उपयोग क्यों करने देना चाहिए | राजा ने कहां अगर तुमने सिर्फ कुँवा बेचा हैं पानी नहीं तो तुम्हें इसके कुँवे का इस्तमाल नहीं करना चाहिए |

राजा  कहा या तो आप अपना पानी हटा ले अन्यथ पानी भी कुंवे के मालिक होगा | तब उसके पड़ोसी को अपनी गलती का एहसास हुआ और उसने किसान सा माफ़ी मांगी और पड़ोसी वहाँ  से चला गया |

शिक्षा

अगर आप किसी को धोखा देते हो तो आप उसे बड़ा देखा खाने तयार रहो |

Hindi Funny Motivational Story

एक बार बहुत आदमी था जो अपनी आँख के दर्द से बहुत ज्यादा दुःखी था | उसने कई डॉक्टर से परामर्श लिया और उपचार भी कराया पर कोई फायदा नहीं हुआ | इतने डॉक्टर और दवा लेने के बाद  उसे कुछ आराम नहीं हो रहा था |

और उसे अभी भी दर्द था और ये दर्द  वाले दर्द से बहुत अधिक था | लास्ट में उसने  बाबा के बारे  सुना  जो ऐसे काम करने में एक्सपर्ट था,  उसके पास  और अपनी अपनी समस्य बताने लगा | बाबा थोड़ी देर में समज गया  मसला किया है उसने उसे समझया की आपको केवल हरे रंग के रंगो पर ध्यान देना चाहिए और अपनी आँख किसी और रंग पर ना पड़ने दे |

अब आमिर आदमी ने पेन्टरों  बुलया  आदेश दिया  उसकी जिन वास्तु पर नजर पढ़े वह उन्हें हरे रंगों में रंग दे | अब कुछ दिनों बाद उसके चारो और हरे रंग रंगों में सारी वस्तु रंग दी और अमीर आदमी ने देखा दूसरी रंग की कोई भी वास्तु यहाँ नहीं हैं |

कुछ दिनों के बाद बाबा अमीर आदमी के घर का दौरा करने आया और अमीर आदमी का नौकर भाग कर गया और उसके ऊपर हरे रंग की बाल्टी उसके ऊपर दाल दी | बाबा ने पूछा ऐसा क्यो किया तो नौकर ने जवाब दिया अपने केसर रंग पहन रखा था और  मालिक को हरे रंग के अलवा और कोई रंग देखने नहीं देख सकते हैं | फिर बाबा हसने लगे और बोले अगर अपने सिर्फ हरे रंग की चश्मा खरीदा होता तो ये सब नहीं करना पड़ता |

शिक्षा

दुनियाँ की सबसे बड़ी बेकूफ़ी है दुनियाँ बदलना सबसे पहले हमे खुद को बदलना है दुनियाँ अपनी आप सुधरी दिखने लगेगी

दोस्तों आप को मेरी ये पोस्ट Hindi Short Stories With Moral Values कैसी लगी हमे कम्मेंट करके जरूर बातए और यदि आपको ये प[पोस्ट अच्छी लगी हो तो शेयर जरूर करे |

ये भी पढ़े :

सच्ची कहानियाँ जो ज़िन्दगी बदल दें 

अपने अन्दर के डर को कैसे ख़तम करें 

रोना क्यों 

Leave a Comment