Gyan Ki Baatein in Hindi | ज्ञान की बात सभी के लिए

में आज आपको कुछ Gyan Ki Baatein बताने जा रहा हूँ जो की आपके ज़िन्दगी से जुड़ी हैं | तो में चाहूंगा की आप ये पूरा आर्टिकल पढ़े शायद अगर अपने पढ़ने के बाद कमेंट किया तो में समज जाऊंगा की आपको मेरा आर्टिकल पसंद आया |

Gyan Ki Baatein in Hindi
                                          Gyan Ki Baatein in Hindi

जैसा की हम अपने बड़े बुजर्गों मुँह से सुनते हैं, की मुसीबत में कोई साथ नहीं देता और जब परेशानी आती हैं तो अपने भी पराये हो जाते हैं | ऐसी  हम अपनी दादा दादी या माँ बाप से सुनते आए हैं और ये बातें 100% सही भी हैं | और अपने अपने जीवन में ऐसा अनुभव क्या ही होगा |

अगर में कहूँ की आपके दोस्त आपको सफल होते नहीं देखना चाहते तो आप को कैसा लगेगा ? तो हो सकता है किन्हीं लोगों को य बात जूठ लगे और किन्हीं हो यही बात सच भी लगे पर पता हैं दोस्तों जिनकी आपसे गहरी दोस्ती हो वो कभी नहीं चाहेंगे की आप सफल हो |

क्योंकि अपने ये कहावत तो सुनी होगी की जब कोई दोस्त Fail होता हैं तो हमें सिर्फ दुःख होता हैं पर जब वो पास होता हैं तो हमें उस समय उससे ज्यादा दुःख होता हैं !

सच बोलू तो इसमें आपके दोस्तों की कोई गलती नहीं हैं, ये तो बस इंसानी परिवर्ती हैं ! जब तक हम जब तक हम अपने दोस्तों के जैसे हैं तब तक सब ठीक रहता हैं, मतलब अगर आपके दोस्त आपके बराबर ही पैसा कमाते हैं और आपका रहन सहन आपके दोस्तों के जैसा ही हैं, तब तक सब बढ़िया चल रहा होता हैं | लेकिन जैसे ही आप बंदिश को तोड़ कर आगे बढ़ते हैं आप के दोस्त आपको ईर्षा भरी निगहों से देखने लगते हैं |

हमेशा याद रखिए नरेंद्र मोदी के दोस्त वो नहीं हैं ! जो नरेंद्र के हुआ करते थे तो दोस्तों आपके दोस्त असफल हैं इसलिए वो आपको सफल होते नहीं देख सकते और अगर आप कामयाब हो जाते हैं तो आपके दोस्त अपनी आपको छोटा मानाने लगते हैं और आपकी सफलता उनके चेहरे पे एक थपड़ की तरह होती हैं उनको लगता हैं उनके अंदर कमियाँ हैं और वो उन्हें सुधरना नहीं चाहते बस इसलिए  सफल होते देखना नहीं चाहते |

दोस्तों जब आप किसी बड़े मुकाम के लिए कोई काम कर रहें हो और कोई दोस्त आपकी मद्दद ना करें तो समज जाएं की वो आपका सच्चा दोस्त नहीं हैं और समज जाएं की वो आपका दोस्त नहीं हैं में आपको बता देना चाहता हूँ की सभी लोग ऐसे ही होते है आप भी और में भी क्योंकि जब कोई इंसान हम से आगे निकलता हैं तो दुःख होता ही हैं |

शिखर पर इंसान अकेला होता हैं !

याद रखना दोस्तों जब आप भी शिखर पर होंगे तो अकेले ही होंगे तब घबराना नहीं हैं कठिनायों से हमे वहाँ कड़े रहना हैं |

 

ज़िन्दगी ऐसी पाठशाला हैं ! जहा क्लास बदलती रहती हैं पर विषय नहीं बदलते | 

दर्द भी दो तरह के होते हैं एक वो जो आप को तकलीफ देते हैं और एक वो जो आपको बदल देते हैं | 

ये भी पढ़े |

तीन पेड़ की कहानी 

ससुराल को कैसे बदलते हैं 

Leave a Comment