Black Hat SEO Vs White Hat SEO Techniques Tricks

सबसे पहले में आप को बता दूँ की Black Hat SEO Vs White Hat SEO Techniques Tricks को समझने के लिए आपको हमारा ये आर्टिकल पूरा पढ़ना पढ़ेगा ! तभी आप के सरे डाउट क्लियर हो जायेंगे की ब्लैक हैट SEO और वाइट हैट Seo किया हैं |

Black Hat SEO Vs White Hat SEO Techniques Tricks
                Black Hat SEO Vs White Hat SEO Techniques Tricks

जब तक आपको इस का जरा सा भी ज्ञान नहीं होगा तब तक आप इन दोनों में फर्क नहीं कर पाएंगे, पर यहाँ जरूर समझ रहे होंगे की ब्लैक हैट SEO कुछ गलत होता हैं और White Hat SEO वेबसाइट के लिए सही है | पर आपको पता भी नहीं लगता की कब आप वाइट हैट से ब्लैक हैट SEO करने लग गए हैं, जिसका परिणाम आप की वेब साइट की रैंकिंग गिरने लगती हैं हो सकता है GOOGLE आपकी वेबसाइट को पेनल्टी भी दे सकता हैं |

Black Hat SEO क्या होता हैं ?

अगर हम बात करें ब्लैक हैट टेक्निक की तो ये वेब साइट को बहुत जल्दी रैंक करवा देती हैं | पर जैसे ही ये गूगल की नजर में आती हैं तो इसे पेनल्टी मिलती हैं और कभी-कभी हमारी वेबसाइट गूगल के सर्च रिजल्ट  हटा दी जाती हैं |

अगर जहाँ तक मुझे पता हैं ब्लैक हैट टेक्नीक का प्रयोग लोग तब करते है जब वो Event Blogging करते हैं | जिसे कुछ ही महीनों में उनकी वेबसाइट हाई रैंक करने लगती हैं जो की गूगल का कोई भी algorithm फॉलो नहीं करते हैं | जो की अपनी वेबसाइट को लम्बे समय के लिए उपयोग नहीं करना चाहते हैं | इसमें वो keyword Stuffing, Hidden Links , SpammingMeta Keywords and Comment का प्रयोग करते हैं |

में उम्मीद करता हूँ की आपको समज आ गया होगा की ब्लैक हैट टेक्निक क्या हैं और इसके करने से आपको कितना फायदा और कितना नुकसान होगा |

What Technique used in Black Hat SEO

keyword Stuffing : इस ट्रिक का उपयोग करके राइटर एक ही keyword को बहुत बार उपयोग करता हैं जो की गूगल के algorithm के खिलाफ हैं | ऐसा करने से रीडर को समज ही नहीं आता की आर्टिकल में किया पढ़े |

Hidden Links : ये एक प्रकार से ऐसे लिंक होते हैं जो इंसान को नहीं बल्कि उन crawler  हैं जो वेबसाइट पे सर्च इंजिन के द्वारा या कह सकते है गूगल के द्वारा भेजे जाते हैं जो की हमारी वेबसाइट की रैंकिग बढ़ती हैं |

Spamming : इसमें ऐसा होता ही की राइटर सिर्फ गगूल के spider को टारगेट करता हैं वो अपने रीडर को कोई इम्पोर्टेन्ट नहीं देता जिसका परिणाम गूगल ऐसी वेबसाइट को पसंद नहीं करता और जैसे ही उसे पता लगता है, कोई ऐसा कर रहा है तो वो उसे पेनल्टी दे देता हैं |

Meta Keywords :Meta Keywords का मतलब ये होता हैं की हमरा आर्टिकल किस पर लिखा है वो description होता है पे कुछ लोग जान कर ऐसे keyword उसे करते है जिनका उपयोग ब्लैक हैट टेक्निक के अंदर आता हैं |

Comment : कुछ लोग किसी और की वेबसाइट में जाकर Commenting करते रहते हैं और बैकलिंक बनाते हैं जो की गूगल को बिलकुल भी पसंद नहीं हैं | अगर आप बैकलिंग नबनाना चाहते हो तो अपने ब्लॉग से रिलेटेड वेबसाइट पर ही बनाये |

White Hat SEO क्या होता हैं ?

अब आप जानना चाहोगे की वाइट हैट टेक्निक क्या होती हैं | तो में  आप को बता देना चाहता हूँ , यह वह प्रोसेस होता हैं जो गूगल पसंद करता हैं जिसे वह अपने रीडर को quality कंटेंट प्रोवाइड कर सके इस में हम बात करे तो न ही तो keyword Stuffing होती है बस हमे गूगल के algorithm फॉलो करने होते हैं |

जिसमे हम अपनी ओडिन्स को सही जानकारी देते है | सच में अब गूगल पहले के मुताबिक बहुत स्मार्ट हो गया हैं | यह 1 sec में बता देगा की आपकी वेब साइट का कंटेंट ओरिजनल हैं या नहीं अगर आप भी जाना चाहते हैं तो देख सकते है यहाँ Copy Text . चलो में बता ता हूँ आपको वाइट हैट टेक्निक के पॉइंट्स |

Unique Content :

अगर आप ब्लॉगिंग इंडस्ट्री में आना चाहते हैं तो ये जान ले की यहाँ content ही सब कुछ होता है | अगर आप[सोचते हैं की आप थोड़ा यहाँ से कॉपी तोडा वहाँ से कॉपी करके आर्टिकल लिख देंगे तो किसी को पता नहीं चलेगा तो आप की गलत फेहमी हैं जैसा मैने बताया गूगल १ sec में ये पता लगा सकता हैं की अपने कहा से कॉपी किया हैं |

Good Data Structuring:

अगर में आपसे बताऊ की अगर आपकी को कोई इनफार्मेशन पढ़नी हैं और आपके पास दो वेबसाइट हैं जिसमें सामान जानकारी हैं पर एक वेबसाइट में बिना इमेज बिना हेडिंग की हैं और दूसरी वेबसाइट अच्छे से  Structure हैं हैडिंग हैं साथ में इमेज का उपयोग किया हैं तो आप किस वेबसाइट को पढ़ना पसंद करोगे शायद दूसरी वेबसाइट को तो आप समज गए होंगे की हमे अपना कंटेंट अच्छे से लिखना हैं जिससे की यूजर को अच्छे से समज आ जाये |

Catchy Title and meta description:

अगर आप अच्छा  Title और Meta description यूज़ करते हैं तो यूजर आपकी वेबसाइट में जरूर आएगा पर ये जरूर दयान रखें की Title और Meta description ऐसा हो जो कंटेंट से रिलेटेड हो नहीं तो यूजर आपकी वेबसाइट पे तो आ जायेगा पर जो जानकारी उसे चाहिए वह नहीं मिलने पर जल्दी चला जायेगा जिसे आपकी वेबसाइट को यूजर अटेन्शन कम होगा और गूगल आपकी पोस्ट को रैंक नहीं करेगा |

Good Keywords:

जब भी आप कोई आर्टिकल लिखने जाए तो keyword Research जरूर करें इसके माध्यम से आपको ये पता लगेगा की लोग किस कीवर्ड को सर्च करते है जिसे आप अपनी वेबसाइट का ट्रैफिक बड़ा सकते हैं | बस आपको वही कीवर्ड दयान में रख कर आर्टिकल लिखना हैं |

Interlinking and Back Linking:

अगर आप अपनी वेबसाइट में  Interlinking करते हैं और अच्छे Back-link बनाते हैं तो आप की वेब साइट में 100% आर्गेनिक ट्रैफिक आएगा बस आपको अपनी वेब साइट रिलेटेड वेबसाइट पे ही बैकलिंक बनाना हैं |

Black Hat SEO Vs White Hat SEO Techniques Conclusion

जैसा की आप जानते होंगे की ब्लैक हैट टेक्निक किसी भी नजरिये से सही नहीं है उन वेबसाइट के लिए जो लॉन्ग टर्म काम करना चाहते हैं | और ये भी सच है की ब्लैक हैट के जरिये आप कुछ ही समय में अच्छी रैंकिंग हासिल कर सकते हैं पर ये नहीं कह सकते की कितने समय के लिए |

मुझे पूरी उम्मीद हैं की Black Hat SEO Vs White Hat SEO Techniques Tricks के जरिये में आपको बता चूका हूँ की इनके करने से क्या होता है और अगर अभी भी आपका कोई कोई Question हैं तो मुझे कमेंट में पूछ सकते हैं |

Leave a Comment