bachoo ki kahani with good thought

bachoo ki kahani with good thought शेयर करने जा राह हूँ | मुझे पूरा विशवास हैं की अगर आप ये सारी कहनियाँ दो से तीन बार अगर पढ़ ले तो आप जरूर अपने अंदर एक बदलाव दिखेंगे |

Short in Hindi Stories With Moral Values For Class 2 7 8 9 10 Childrens Funny Storie

कुत्ते की समझधारी 

दोस्तों कहानी एक वफ़ादार कुत्ते की है, एक अमीर घर में एक कुत्ता रहता था उसका नाम बादल था | एक दिन रात में जब सब खाना खा के सो गए तब उस घर में  किसी चोर ने दीवार से अंदर आने की कोशिश की कुत्ता वहाँ सब देखता रह जब थोड़ा सा अँधेरे हुआ तो वो चोर अंदर आ गया और फिर कुत्ता उसे देख के भोंकने लगा तभी चोर एक मीट का टुकड़ा उसकी तरफ फेका की वो चुप हो जाए पर वह चुप नहीं हुआ फिर चोर ने एक दूसरा टुकड़ा फेंका | 

अब कुत्ता समज गया की यह मुझे चुप होने के लिए रिशवत दे रहा हैं | बादल की समज में आ गया था की रिशवत तो बेईमान लोग ही देते हैं और फिर वहाँ कुत्ता जोर-जोर से भोंकने लगा और उसकी आवाज़ सुनकर उसका मालिक उठ गया और उसने चोर को भगते वे देख लिया और जब मालिक ने मीट के टुकड़े देखें तो उसकी सब समज में आ गया ये देख मलिक ने कुत्ते की गले से लगा लिया | 

शिक्षा : दोस्तों इस कहानी से हमें ये शिक्षा मिलती है की हमें कभी भी कोई रिशवत देने की कोशिश करता हैं तो हमेशा याद रखें उसकी नियत कभी भी अच्छी नहीं होगी | 

Motivational Stories in Hindi – जैसे को तैसा 

एक जंगल में एक लोमड़ी और एक बगुला रहता था | एक बार अचानक लोमड़ी ने बगुले से कहा क्यों ना हम अपनी दोस्ती को और पक्का करे तब लोमड़ी ने कहा क्यों न आज तुम मेरे घर दवात पे आओ दोनों मिलकर खाना खाएंगे |

बगुला लोमड़ी की बात मान गया और और शाम होते ही लोमड़ी के घर जा पहुंचा और देखा वहाँ एक बड़ी प्लेट बर्फी राखी थीं | लोमड़ी ने कहा चलो आओ दोनों मिलकर बर्फी खाते हैं | दोनों ने मिलकर खाना शुरू क्या पर लोमड़ी ने झट से सारी बर्फी खत्म कर दी और ये सब बगुला देखता ही रह गया क्योंकि बगुले की चोंच की वजह से बगुला कुछ पाया |

ये बात बगुले को बहुत बूरी लगी पर उसने उसे कुछ नहीं कहा और वहाँ से चुप चाप चला गया और अब लोमड़ी को सबक सिखने के लिए बगुले ने भी लोमड़ी को दावत में भुलाया और लोमड़ी झट से दावत में आने के लिए मान गयी |

ये भी पढ़े : अकबर बीरबल की कहानियाँ

और जब शाम को लोमड़ी दावत खाने के लिए बगुले के घर गयी और लोमड़ी ने देखा वह से बहुत अच्छी खशबू आ रही थीं उस खुसबू को सूँघते ही लोमड़ी के मुँह में पानी आ गया |

लोमड़ी ने बगुले से कहा दोस्त बहुत भूख लग रही है चलो खाना खाने चलते हैं, बगुले ने खा हां हां चलो | पर जब वह खाना खाने बैठे तो लोमड़ी ने देखा खाना एक सुराई में था जिसका मुँह ऊपर से छोटा होता हैं | अब दोनों ने खाना-खाना शुरू क्या पर सुराई के छोटे मुँह होने के कारण बगुले ने सारा खाना जल्दी खा लिया और ये सब लोमड़ी देखती रह गयी |

लोमड़ी को बात समज में आ गयी थी की जैसा उसके साथ लोमड़ी ने किया था वैसा ही बगुला मेरे साथ कर रहा हैं और लोमड़ी वह से बिना कुछ बोले चुप चाप चली गयी |

शिक्षा : तो दोस्तों इस कहानी से हमे ये शिक्षा मिलती है मकई जैसा कोई हमारे साथ करें वैसा ही हमे उसके साथ करना चाहिए | 

 हमें लालच नहीं करना चाहिए 

एक समय की बात एक बन्दर की टोली जंगल में खाना ना होने की वजह से खाने की तलाश में निकले और कुछ दूर जाते ही उन्हें एक घर की खड़की खुली दिखी पर उस पे जाली लगी हुई थी |

सब ने देखा घर के अन्दर टेबल पर कुछ फल रखे हुए हैं ये देख कर सबके मुँह  पानी आ गया | सब बन्दर ने मिलकर जाली तोड़ने की कोशिश की पर किसी को भी सफलता नहीं मिल पाई | सब निराश हो कर जाने लगे तभी एक बन्दर का बच्चा अंदर जा पहुंचा सब ने यह देख कर बहुत खुश हुऐ और उसे अंदर फल बहार फेकने को कहा |

पर वह पतला सा बन्दर फल देख कर इतना बिजी हो गया की उन्हें भूल कर टेबल पर रखे सारे फल खा गया अब जब वह बहार निकलने लिए गया तो वह निकल नहीं पा रहा था क्यों की फल खाने की वजह से उसका पेट मोटा हो गया था | अब सारे बन्दर उसका मजाक बनाने लगे और उसे वही छोर कर निकल गए और उसे बोला जब पतला हो जायेगा तब निकल जाना |

शिक्षा : दोस्तों इस कहानी से हमे ये शिक्षा मिलती है की अगर वो बन्दर उन्हें बाहर फल देता तो वो उसे अकेला छोर कर कभी नहीं जाते तो दोस्तों हमे कभी भी स्वार्थी नहीं बनाना चाहिए |

दोस्तों आपको हमारी ये Short in Hindi Stories With Moral Values For Class 2 7 8 9 10 Childrens Funny Storie कैसी लगी कमेंट कर के जरूर बताये |

 

Leave a Comment