क्या आप भी उस मेंढक की तरह तो नहीं ? A Short Story About Action of frog

A Short Story About Action of frog: एक बार एक मेंढक एक गर्म वाले बर्तन में गिर गया ! वह गर्म पानी का पार्टन गैस में चढ़ा हुआ था | उस मेंढक ने उस गर्म पानी वाले बर्तन में से में छलाँग मरने की नहीं सोची और बस बर्तन में ही बैठा रहा धीरे-धीरे जब पानी का तापमान बढ़ने लगा और वह मेंढक बर्तन के तापमान  साथ खुद को अर्जेस्ट करने लगा !

A Short Story About Action of frog

कुछ समय बाद वह पानी खोलने वाली स्थति में आगया था | और वह मेंढक उस समय पानी को अपनी बॉडी के अनुसार अर्जेस्ट करने लायक स्थति में नहीं था ! अब तेज़ी से मेंढक बर्तन में से छलांग लगने की सोची परन्तु पानी अब खोलने लगा था | जिस करना मेंढक उस बर्तन से बहार नहीं निकल पाया था | और कुछ समय बाद वो मेंढक खोलते पानी में डूब गया और उसकी मौत हो गयी !

दोस्तों ऐसा किया करना था जो मेंढक उस बर्तन में से छलांग नहीं लगा सका किया आप उस गर्म पानी को दोष डोंगे ?

इस का जवाब है मेंढक की अस्कमता  वो मेंढक अपनी अस्कमता के कारण यह निर्णय नहीं ले पाया की उसे गर्म पानी के बर्तन में से उछल कर बहार निकल जाना चाहिए !

दोस्तों कई बार हम भी मेंढक की तरह  कर देते है ! और जब भी हमारे सामने कोई समस्या आती है हम घबरा जाते हैं और कोई उचित निर्णय नहीं ले पाते हैं ! और बस हलात पे सब छोड़ देते है बल्की ऐसे समय देख कर हमे उस समस्या का सामना करना चाहिए !

और जो भी आसान रास्ता उससे बहार निकल कर जाने का हैं उसे फॉलो करें और हम ऐसा नहीं करते है तो हम अपनी एबिलिटी को कमजोर कर देंगे खुद को मजबूती के साथ पेश करे और खुद को मजबूत बना कर पेश करें !

दोस्तों आपको ये कहानी A Short Story About Action of frog कैसी लगी लगी हमें कम्मेंट कर के बतायें !

 ये भी जरूर पढ़े :

सुंदरता का मायने एक प्रेरणादयाक कहानी

ये 5 heart Touching Stories in Hindi for men एक बार जर्रूर पढ़े

 

Leave a Comment